मारवाड़ में कोरोना के खिलाफ चौतरफा जंग

बाल मुकुन्द ओझा

मारवाड़ संभाग में जोधपुर, जैसलमेर बाड़मेर,,जालोर, सिरोही और पाली जिले आते है। प्रकृति की चौतरफा मार से यह क्षेत्र पीड़ित है। सूखा और युद्ध से आशंकित यह क्षेत्र अब टिड्डियों और कोरोना के कहर को झेल रहा है। इन सब पीड़ाओं को भुगतने के बाद भी यहाँ के लोग कर्मठ , मेहनती और स्वभाव से भोले है। वर्षा आधारित कृषि और पशुपालन यहाँ का मुख्य व्यवसाय है। मारवाड़ इस समय कोरोना का हमला झेल रहा है। सब कोई इसका बड़ी बहादुरी से मुकाबला कर रहे है। नेहरू युवा केंद्र संगठन भी कोरोना के जंग में कूद पड़ा है। इसके कार्यकर्त्ता गांव गांव में लोगों को जागरूक कर सहायता मुहैया करा रहे है। राज्य निदेशक डॉ भुवनेश जैन के अनुसार युवा मंडल और राष्ट्रीय स्वयं सेवक आम आदमी की हर तरह की मदद को तत्पर है।
जैसलमेर के युवा समन्वयक फतेह लाल भील के अनुसार राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक महिपाल सिंह और युवा मंडल म्याजलार के अध्यक्ष भीख सिंह ने ने कोरोना महामारी के बीच बहुत सराहनीय काम किया उन्होंने लोक डाउन के दौरान कोरोना से बचाव और उपचार की जानकारी दी। लोक कलाकारों को 200 राशन किट वितरण किये। उसके बाद मध्यप्रदेश के प्रवासी मजदूरों के लिए सरकारी स्कूल मे रहने खाने पीने की व्यवस्था पंचायत व युवा मंडल ने मिलकर की। गाँव में नयी डिजाइन वाले परिंडे लगाये। राष्ट्रीय स्वयंसेवक दिलीप सिंह, वीरम सिंह, इकबाल चनिया और जोरावर सिंह ने भी सराहनीय कार्य किया। युवा मंडल के हनुमान राम लालाराम, हिम्मत सिंह, तखत सिंह, अजय सिंह, रण सिंह, भगवान सिंह, जेठमल सिंह, जुझार सिंह आदि का योगदान भी सराहनीय रहा।
जोधपुर के युवा समन्वयक राजेश चौधरी के अनुसार कोरोना महामारी से लड़ने में लूणावास खारा युवा मंडल के नारायणराम पंचारिया ने अपने पूरे गांव में सैनेटाईजेषन करवाने के साथ वॉट्सएप ग्रुप बनाकर समस्त गांववासियों को जोड़कर कोरोना के प्रति जागरूक करना प्रारंभ किया। वहीं बालेसर से राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक भगवान सिंह व शेरगढ़ से स्वयंसेवक जसाराम जांगिड़ ने भी मास्क वितरण, राशन सामग्री में मदद प्रदान करने व सोशल मीडिया के माध्यम से जागरूकता के साथ दीवारों पर नारा लेखन के द्वारा जागरूकता का प्रसार किया।
जालौर के युवा समन्वयक किशन लाल के अनुसार छतरा राम मेघवाल राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक सांचौर कोरोना महामारी से लोगों को बचाने के लिए अपने अपने क्षेत्रों में जागरूकता के कार्यक्रम आयोजित किये और सहायता कार्यों में अपनी सक्रीय भागीदारी दी। मास्क ,खाद्यान वितरण नारा लेखन सहित सोशल मीडिया का भी भरपूर उपयोग किया। भरत कुमार. दलपत कुमार, छतरा राम, बावरलारामसन, रमा राम और सुरेश कुमार ने भी सराहनीय कार्य किया।
सिरोही के युवा समन्वयक मोहित के अनुसार सिरोही के राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक जयंतीलाल माली, गोविंद सिंह, अनिल रावल, गीता सोनी, लक्ष्मी, मंजू ,संतोष गुरु, खातरा राम, गुलाब सिंह ने कोरोना महामारी के दौरान लोगों को इसके प्रति जागरूकता का संदेश दिया एवं अपने आसपास के बड़े बुजुर्गों का ख्याल रखा । इसके अलावा इन्होंने विभिन्न दिवसों को घर पर रहकर मनाया द्य नेहरु युवा मंडल वीरवाड़ा, कालंद्री एवं रेवदर के सदस्य सरवन कुमार रावल, नटवर सिं ,देवेंद्र सिंह ने घर पर रहकर लोगों को आई गोट रजिस्ट्रेशन, आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने हेतु एवं नेहरू युवा केंद्र के साथ मिलकर काम करने के लिए प्रेरित किया।
पाली के युवा समन्वयक राजेंद्र जाखड़ ने बताया जिले की 8 अन्य जिलों से सीमा स्पर्श व डेढ़ लाख प्रवासियों के आगमन के लिहाज से इसे अतिसंवेदनशील क्षेत्र में रखा गया था। पाली के सभी स्वयंसेवकों विषेषकर सुमेरपुर ब्लाक के स्वयंसेवक देवेन्द्र सिंह व विनोद कुमार स्वामी और विवेकानंद युवा मंडल रामनगर, सुमेरपुर केअध्यक्ष देवेंद्र सिंह ने अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए समस्त युवा मण्डल व उपखण्ड प्रशासन के साथ समन्वय करते हुए ब्लाक के सभी राजस्व गांवों में कुल 536 युवा स्वयंसेवकों को सहयोग हेतु तैनात करके नेहरू युवा केन्द्र पाली के नाम एक अनूठा रिकार्ड स्थापित किया हैं। इन स्वयंसेवकों के उत्साहवर्द्धन हेतु भामाशाहों व उपखण्ड प्रशासन के सहयोग से उन्हें टी-शर्त व केन्द्र द्वारा टोपी भी प्रदान की गई। इसके अतिरिक्त जिले में वोपारी गांव से भरत वैष्णव, लाम्बिया के तेजाराम जाट, सुरेष डिडेल, व जाडन से विजय कुमार, नाडोल से नैनाराम आदि ने भी पुलिस मित्र के रूप में लगातार दो माह तक सेवा देकर कोरोना रोकथाम में सहयोग दिया। महिला मण्डलों में निमाज से अन्नू सोनी, रायरा से दीपिका सिसोदिया, रायपुर से दीपू वैष्णव, बारसा से कंचन आदि ने सैंकड़ों मास्क बनाकर बांटे।
बाड़मेर के युवा समन्वयक सचिन पाटोदिया ने बताया की अशोक कुमार शर्मा बाडमेर, अध्यक्ष स्वामी विवेकानंद युवा मण्डल उण्डखा और भीमसिंह राष्ट्रीय युवा स्वयसेवक ब्लाक गडरारोड न सार्वजनिक स्थानो पर जागरूकता का संदेश,प्रवासी मजदूरो के लिये राशन सामग्री के किट ,ग्रामीण स्तर पर स्वंय के सहयोग से व स्वंय द्वारा मास्क बनाकर वितरित करना, सेनिटाईजर करवाना,कोराना महामारी मे होम क्वारटिंन व्यक्तियो का सहयोग , लोगो को सेाशल मिडिया के माध्यम से जागरूक करना, आरोग्य सेतु की जानकारी एवं डाउनलोड करवाना, एवं आई गोट पर रजिस्ट्रेशन, योद्धाओं का सम्मान आदि कार्य सेवाभाव से किये गए।

 

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.