श्रीनगर और कुलगाम में सुरक्षा बलों की आतंकवादियों के बीच मुठभेड़

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर और कुलगाम जिलों में पिछले 24 घंटे के दौरान सुरक्षा बलों के साथ दो मुठभेड़ों में एक पाकिस्तानी नागरिक समेत चार आतंकवादी मारे गए। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मारे गए आतंकवाादियों में शकूर फारूक लैंगू भी शामिल हैं। पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार वह इस साल 20 मई को सूरा इलाके में बीएसएफ के दो जवानों की हत्या में शामिल था, जिनमें से एक जवान से छीनी गई एके राइफल भी मुठभेड़ स्थल से बरामद हुई है। अधिकारी ने कहा कि श्रीनगर जिले के जूनिमार इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी के आधार पर पुलिस और सीआरपीएफ ने संयुक्त रूप से घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया।
उन्होंने कहा, तलाशी अभियान के दौरान छिपे हुए आतंकवादियों से उनके परिवारों और समुदाय के लोगों ने कई बार आत्मसमर्पण की अपील की, लेकिन उन्होंने सुरक्षा बलों पर ताबड़तोड़ गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद सुरक्षा बलों ने जवाबी कार्रवाई की और मुठभेड़ शुरू हो गई। अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गए। तीनों के शव बरामद कर लिये गए हैं। उन्होंने कहा, मारे गए दो आतकंवादियों की पहचान श्रीनगर के बडठाना के निवासी शकूर फारूक लैंगू और बिजबेहरा के रहने वाले शाहिद अहमद भट के रूप में हुई है। तीसरे आतंकवादी की पहचान की जा रही है। अभियान के मद्देनजर मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गईं।
अधिकारी ने कहा कि ये तीन आतंकवादी प्रतिबंधित आतंकी संगठनों हिज्बुल मुजाहिदीन और इस्लामिक स्टेट जम्मू-कश्मीर से जुड़े थे। सुरक्षा बलों के साथ संघर्ष में जून में अब तक 31 आतंकवादी मारे जा चुके हैं जबकि इस साल कुल 105 आतंकवादी मारे गए हैं। अधिकारी ने कहा कि शनिवार को कुलगाम जिले में जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी के मारे जाने के 24 घंटे के भीतर श्रीनगर में अभियान चलाया गया था। उन्होंने कहा कि कुलगाम में मारे गए आतंकवादी की पहचान जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े पाकिस्तानी नागरिक तय्यब उर्फ इमरान भाई उर्फ गाजी बाबा के रूप में हुई है। पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार वह जैश का ऑपरेशनल कमांडर , आईईडी बनाने में माहिर होने के अलावा शार्प शूटर भी था।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.