किराना दुकानों को डिजिटल स्टोर्स में बदलना वक्त की जरूरत है – ईशा एवं आकाश अंबानी

@ chaltefirte.com                  नई दिल्ली। रिलायंस जियो प्लेटफॉर्म्स के डायरेक्टर ईशा अंबानी और आकाश अंबानी ने छोटे व्यवसायों को देश की रीढ़ बताया। ईशा अंबनी ने कहा कि महामारी ने बिजनेस करने के तरीकों को बदल दिया है। अब वक्त आ गया है कि मोहल्ले की किराना दुकानों को डिजिटल स्टोर्स में बदला जाए। आकाश अंबानी ने रिलायंस से जुड़े 30 हजार रिटेल विक्रेताओं का जिक्र करते हुए कहा कि रिटेल सेक्टर में ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह के स्टोर्स के लिए स्थान है। ईशा और आकाश अंबानी फेसबुक के कार्यक्रम फ्यूल फॉर इंडिया 2021 कार्यक्रम में वर्चुअली भाग ले रहे थे।

चीफ बिजनेस ऑफिसर, मेटा (फेसबुक) मार्ने लेविन के एक सवाल के जवाब में ईशा अंबानी ने कहा “हमारे पिता मुकेश अंबानी का विजन था कि लाखों छोटे खुदरा विक्रेताओं को जियो और जियोमार्ट के माध्यम से डिजिटली सक्षम बनाया जाए। हम उनके विजन को साकार करने के एक कदम और करीब आ गए हैं आकाश और मेरे लिए यह व्यक्तिगत रूप से बहुत महत्वपूर्ण है”

जियोमार्ट और व्हाट्सऐप की पार्टनरशिप पर टिप्पणी करते हुए आकाश अंबानी ने कहा  “व्हाट्सएप के माध्यम से जियोमार्ट पर डिजिटल खरीदारी अब एक संदेश भेजने जैसा है। यह वास्तव में उपभोक्ताओं के लिए डिजिटल खरीदारी में एक क्रांति है।“

मार्ने  ने जियो के मजबूत ग्राहक आधार और किफायती सेवाओं की प्रशंसा करते हुए सवाल पूछा कि व्हाट्सएप के माध्यम से जियो मोबाइल रिचार्ज कैसे काम कर रहा है। सवाल के जवाब में आकाश अंबानी ने कहा कि व्हाट्सऐप पर जियो का रिचार्ज करना बेहद सरल है, यह एक दो चरणों में ही पूरा हो जाता है। इसने जियो उपभोक्ताओं के जीवन को आसान बना दिया है। ईशा ने वृद्ध नागरिकों का हवाला देते हुए कहा कि वृद्ध नागरिकों के लिए कभी-कभी बाहर जाना मुश्किल हो सकता है ऐसे में व्हाट्सएप के माध्यम से जियो रिचार्ज  बेहद सुविधाजनक साबित हो रहा है।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.