दिल्ली के सफदरजंग एंक्लेव में 88 वर्षीय वृद्धा की गला रेतकर हत्या

पति को बांधकर छोड़ गए बदमाश

दक्षिणी दिल्ली के पॉश इलाके सफदरजंग एंक्लेव के एक घर में शनिवार देर रात 88 वर्षीय वृद्धा की गला रेतकर हत्या कर दी गई। हत्या के वक्त बदमाशों ने महिला के 94 वर्षीय पति को बांध दिया था।
दिल्ली पुलिस ने रविवार को इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि कांता चावला अपने पति के साथ चार मंजिला इमारत के ग्राउंड फ्लोर पर रहती थीं। यह दंपति यहां अकेले रहते थे। करीब 15 दिन पहले उन्होंने एक सिक्योरिटी गार्ड को काम पर रखा था, जो अब लापता है।
वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि उनके घर में तोड़फोड़ की गई थी। पुलिस ने इस हत्या के पीछे लूटपाट का मकसद होने का संदेह जताया है। पुलिस के अनुसार, यह घटना शनिवार रात 8 बजे के बाद हुई है। पुलिस को शक है हत्या में शामिल लोग कोई जानकार ही थे। पुलिस ने कहा कि महिला के पति द्वारा पड़ोसियों को इस बारे में सूचित करने के बाद उन्हें देर रात लगभग 9:30 बजे इस वारदात के संबंध में सूचना दी गई थी।
एक जांचकर्ता ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि ऐसा लग रहा है कि महिला को इसलिए मार दिया गया क्योंकि उसने ऊपर की मंजिलों पर रहने वाले अन्य लोगों को सचेत करने के लिए अलार्म बजाने की कोशिश की थी। उसका पति जो 94 वर्ष का है, वह बुढ़ापे के कारण ठीक से बोल या चल-फिर नहीं कर सकते हैं इसलिए उन्हें बस बांधकर छोड़ दिया गया था।
हत्या के बाद से सिक्योरिटी गार्ड लापता
जांचकर्ता ने कहा कि घर में तोड़फोड़ की गई है और प्रथमदृष्टया हत्या के पीछे डकैती एक कारण है। दंपति ने अपने घर पर काम करने के लिए मेड भी रखी हुई थी। अधिकारी ने कहा कि उसकी मदद से, दंपति ने करीब 15 दिन पहले एक सिक्योरिटी गार्ड को भी काम पर रखा था, जो अब लापता है। घटना की प्रारंभिक जांच के दौरान, तीन लोग सीसीटीवी फुटेज में भागते हुए देखे गए थे। उनमें से एक संभवतः सिक्योरिटी गार्ड है। सिक्योरिटी गार्ड का पुलिस वेरिफिकेशन नहीं कराया गया था।
पुलिस उपायुक्त (दक्षिण-पश्चिम) देवेंद्र आर्य ने कहा कि हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है और सभी संभावित ऐंगल से घटना की जांच की जा रही है। पुलिस ने कहा कि दंपति के दो बेटे थे, जिनकी कुछ साल पहले मौत हो गई थी। दोनों बेटे अपने परिवार के साथ अमेरिका में रहते थे।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.