राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देना एक अभूतपूर्व कदम – के लक्ष्मण

@ chaltefirte.com                                 नई दिल्ली ।भारतीय जनता पार्टी के ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. के. लक्षमण ने आगामी चुनाव को लेकर विपक्षी पार्टियों पर के हमले करते हुए कहा कि जब जब चुनाव आता है तो पिछड़ी जातियों को मूर्ख बना कर विपक्षी पार्टी वोट लेने का प्रयास करते हैं। के लक्ष्मण ने बताया कि आने वाले विधानसभा चुनाव को मध्य नजर रखते हुए ओबीसी मोर्चा उत्तर प्रदेश और उत्तराखण्ड की प्रदेश कार्यकारिणी सम्पन्न हुई ।जिसमें स्वयं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ व उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी भी उपस्थित रहे।जिसमें निर्णय लिया गया कि भारतीय जनता पार्टी ओबीसी मोर्चा के कार्यकर्ता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पिछड़े वर्ग के उत्तथान के लिए गए निर्णयों को लेकर जन-जन तक जायेंगे, जिनमें कुछ प्रमुख मुद्दे है। प्रधानमंत्री जी ने राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा दिलाया जो अपने आप में एक अभूतपूर्व कदम है ।अब तक मंडल आयोग के तहत २७% आरक्षण का लाभ उन्हें नहीं मिल सका जिन्हे मिलना चाहिए था। पिछड़े वर्ग से 27 मंत्रियों को केंद्रीय मंत्रिमंडल में स्थान देना ।मेडिकल शिक्षा के क्षेत्र अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण प्रदान करना शामिल है।कांग्रेस पार्टी ने सदैव समाज के पिछड़े वर्ग के हितों को दबाया है तथा केवल झूठे वादे किए हैं जिस प्रकार कांग्रेस ने राज्य सभा में प्रस्ताव का विरोध किया वह पिछड़े वर्ग के लिए उसके वास्तविक रवैया को दिखाने वाला था यह प्रत्यक्ष रूप से दर्शित होता है कि लंबे समय तक सत्ता में रहने के बावजूद तथा काका कालेलकर आयोग 1950 व मंडल आयोग 1979 के सिफारिशों के बाद भी कांग्रेस द्वारा पिछड़े वर्ग के हितों की पूर्ति की दिशा में कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया।
भाजपा ओबीसी मोर्चा आने वाले चुनाव में भाजपा की उपलब्धियों व कांग्रेस की विफलताओं को लेकर जन-जन व गांव- गांव तक प्रचार करेगा व भारतीय जनता पार्टी को भारी बहुमत से जीत दिलाकर दोनों राज्यों में दुबारा से सरकार बनाने का काम करेगा। 
Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.