आस्था की खुशबू से महकेगा टीएमयू

रिद्धि-सिद्धि भवन में 10 सितंबर से 19 सितंबर तक मनाया जाएगा पर्वाधिराज पर्यूषण महोत्सव

प्रो. श्याम सुंदर भाटिया

दिगम्बर जैन समाज का दस दिवसीय आत्मोत्थान का महायज्ञ-दस लक्षण पर्व 10 सितम्बर यानी शुक्रवार से प्रारम्भ हो रहा है। तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के जिनालय और रिद्धि-सिद्धि भवन में तैयारी पूरी कर ली गई हैं। पर्वाधिराज पर्यूषण महोत्सव में व्रत, नियम, संयम के साथ जिनेन्द्र भगवान की आराधना संकल्प पूर्वक की जाती है। इस दस दिनी महापर्व में बच्चे से लेकर बूढ़े तक प्रसन्नचित्त होकर धर्मध्यान करते हैं। इस पर्व को मनाने का मूल ध्येय विकारों पर विजय पाना अर्थात विकृति का विनाश और विशुद्धि का विकास करना है। तीर्थंकर महावीर जिनालय में 10 सितंबर से 19 सितंबर तक विधि विधान से दस लक्षण पर्व चलेगा। दस लक्षण महापर्व के दौरान चार दिन विशेष कार्यक्रम होंगे। 14 सितम्बर को भगवान पुष्पदंत मोक्ष कल्याणक का महोत्सव एवं लाडू समर्पण 16 सितम्बर सुगंध दशमी (धूप खेवन), 19 सितम्बर को भगवान वासुपूज्य मोक्ष कल्याण महोत्सव एवं लाडू समर्पण (अनंत चतुर्दशी) होगा। ये कार्यक्रम शिखर जी से आए प्रतिष्ठाचार्य ऋषभ जैन शास्त्री और ब्रह्मचारिणी बहन कल्पना जैन के सानिध्य में होंगे। दिल्ली की सरस एंड पार्टी संगीत के जरिए धार्मिक धुनों पर श्रावक और श्राविकाओं को थिरकाएगी।

तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के छात्र-छात्राएं कॉलेज वार नौ दिनों तक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे। 10 सितम्बर – उत्तम क्षमा को सीसीएसआईटी की ओर से बहु रूपी ब्रह्मगुलाल, 11 सितम्बर – उत्तम मार्दव को एजुकेशन एंड एग्रीकल्चर कॉलेजों की ओर से अंत्याक्षरी एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम, 12 सितम्बर – उत्तम आर्जव को मेडिकल कॉलेज की ओर से सृजन, ,13 सितम्बर – उत्तम शौच को डेंटल कॉलेज की प्रस्तुति जैन रक्षाबंधन कथा, 14 सितम्बर – उत्तम सत्य को टिमिट और लॉ कॉलेज का कमठ-उपसर्ग कार्यक्रम, 15 सितम्बर – उत्तम संयम को नर्सिंग और पॉलीटेक्निक का पर्यूषण महोत्सव, 16 सितम्बर – उत्तम तप को इंजीनियरिंग कॉलेज की ऐसा देश है मेरा-अतुल्य भारत की प्रस्तुति, 17 सितम्बर – उत्तम त्याग को पैरा-मेडिकल और फिजियोथेरेपी की ओर से कोरोना… क्या खोया? क्या पाया? 18 सितम्बर – उत्तम आकिंचन्य को सीसीएसआईटी की ओर से अणुव्रत की महिमा, उत्तम ब्रह्मचर्य के दिन 19 सितम्बर महाआरती होगी। 20 सितम्बर को कुलाधिपति आवास – संवृद्धि पर प्रात: 7:00 बजे से श्रावक और श्राविकाओं का पारणा होगा। नित्य मंगल कार्यक्रम के तहत प्रात: 06:30 बजे से – श्री जी का अभिषेक, शान्तिधारा और नित्य नियम संगीतमय पूजन, सांय 06:30 बजे से 7:30 बजे तक आरती, सांय 07:30 बजे से 08:15 तक प्रवचन, रात्रि 08:15 से प्रभु इच्छा तक सांस्कृतिक कार्यक्रम चलेंगे।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.