कोरोना जंग में मास्क बना मददगार

राजस्थान  ब्यूरो
जयपुर। रेतीलों धोरों से आच्छादित बीकानेर संभाग में बीकानेर सहित चूरू, श्री गंगानगर और हनुमान गढ़ जिले शामिल है। यह क्षेत्र जीवनदायी इंदिरा नहर के साथ गर्मियों में भीषण गर्मी और सर्दियों में कड़ाके की सर्दी के लिए देश में अपनी पहचान बनाये हुए है। कोरोना महामारी ने बीकानेर संभाग पर भी हमला किया। लोगों ने इस महामारी से लड़ने के लिए कमर कसी। सरकार के साथ समाज सेवियों ने भी अपने अपने ढंग से कोरोना का मुकाबला किया। सरकार की गाइड लाइन की पालना की और हर संभव तरीके से कोरोना जंग में कूद पड़े। नेहरू युवा केंद्र संगठन के युवा मंडलों ने अपने गांवों में मोर्चा संभाला और मास्क वितरण, सेनिटाइजेशन, दीवारों पर जागरूकता लेखन , खाद्यान वितरण आदि के कार्य स्थानीय प्रशासन के सहयोग से सम्पादित किये। विशेषकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक और यूथ लीडर्स ने मेहनत की और पीड़ितों की सहायता में अपनी टीम के साथ कदम बढ़ाये।
चूरू के युवा समन्वयक मंगल जाखड़ ने बताया की चूरू जिले में मुख्य संपर्क स्थलों पर मास्क की अनिवार्यता को अपनाकर कोरोना को दी मात दी। चूरू के ग्रामीण इलाकों में जहां एक तरफ गहन तालाबंदी की वजह से लोगों का घरों से निकलना बिल्कुल रुक चुका था ऐसे कठिन दौर में रतनगढ़ के 24 वर्षीय राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक इंद्राज और जागृति युवा संस्थान के शीशपाल मेहला समाज के वंचित तबके तक राशन सामग्री, वित्तीय सहायता का लाभ तथा बुनियादी स्वास्थ्य सेवा के लिए राशन डीलरों, बैंक कर्मियों तथा अन्य सेवा प्रदाताओं के पास लगातार संपर्क करते रहे । मास्क की उपयोगिता को समझा और लोगों प्रेरित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। शीशपाल ने अपनी सिलाई की दुकान से 12000 मास्को का निर्माण कर अनेक गांव तक पहुंचाया जिसकी बदौलत ग्रामीण इलाके मे मास्क के प्रयोग को लेकर संवेदनशीलता आई। लॉक डाउन की वजह से बढ़ते घरेलू हिंसा के मामले वह महिलाओं पर अत्याचार को देखते हुए युवा आइडियल सोसायटी से भूमिका ने मिशन बेखौफ की शुरुआत कर उत्पीड़न के खिलाफ सामूहिक आवाज उठाने का प्रयत्न किया ।
श्रीगंगानगर के युवा समन्वयक भूपेंद्र सिंह शेखावत के अनुसार सभी युवा मंडल इस वैश्विक महामारी में अच्छा कार्य कर रहे है। नेताजी सुभाष युवा मंडल ख्यालीवाला के अध्यक्ष संदीप शर्मा, सचिव श्याम सुन्दर एवं नेहरू युवा समिति 16 एम एल के सदस्य प्रदीप माहर एवं पवन शर्मा द्वारा विशेष रूप से आवारा पशुओं का इलाज करना एवं पशुओं के लिए चारा, पोधे लगाना, प्रवासी मजदूरों के लिए भोजन, गांवों को सानिटाइज, मास्क बनाकर वितरित करना, राशन वितरण में सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करवाना, नारा लेखन कर जागरूकता, काढ़ा पिलाना ये सब कार्य किए जा रहे है। स्वयंसेवकों में द्रोपती एवं उनकी महिला साथियों के द्वारा 1500 मास्क बनाकर गांव में बांटे गए। गुरदीप सिंह एवं उनके साथियों द्वारा 560 राशन किटो का वितरण किया गया। नवीन कुमार एवं उद्धम सिंह द्वारा सबसे ज्यादा आईगोट पर रजिस्ट्रेशन करवाकर इस वायरस से लड़ने के लिए उपयोगी ट्रेनिंग दी गई।
हनुमानगढ की युवा समन्वयक मधु यादव ने बताया नेहरू युवा मंडल पीलीबंगा के अध्यक्ष इंद्राज पवार और संगरिया ब्लॉक के राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक लखवीर सिंह ने अपने अपने क्षेत्रों में स्थानीय प्रशासन के सहयोग से मास्क बनवाकर वितरित किये। दिहाड़ी मजदूरों को खाद्यान सामग्री सुलभ कराइ। सोडियम हाईड्रो क्लोराइड दवा का छिडकाव किया। नारा लेखन, प्रचार के साथ ग्रामीणों को जागरूक किया।
बीकानेर की युवा समन्वयक रूबी पाल ने बताया ब्लॉक लूणकरणसर के राष्ट्रीय स्वयंसेवक विनोद मेघवाल और ब्लॉक पांचू के झांसी की रानी महिला मंडल की अध्यक्ष गायत्री नाई व सचिव पार्वती उपाध्याय ने आमजन को पोस्टर, बैनर, नारा लेखन आदि के माध्यम से कोरोना महामारी से जागरूक किया। ब्लॉक खाजूवाला के राष्ट्रीय स्वयंसेवक कन्हैया लाल गर्ग एवं मांगीलाल , नोखा ब्लॉक के स्वयंसेवक सुशील कुमार विश्नोई व भगवती ने मुंबई तथा दिल्ली जैसे अनेक महानगरों से आने वाले प्रवासी मजदूरों को 15 दिन तक क्वॉरेंटाइन किए जाने से लेकर उनके भोजन व रहने की व्यवस्था में सहयोग किया गर्भवती महिलाओं को स्वच्छता एवं टीकाकरण के लिए जागरूक किया, साथ ही विशेष रुप से बच्चों एवं बुजुर्गों को घर में रहने की अपील की खाजूवाला ब्लॉक के स्वामी विवेकानंद युवा मंडल के अध्यक्ष पूराराम एवं सचिव चंदू राम ने भी सराहनीय कार्य किया।

 

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.