ग्रामसभा की जमीन केजरीवाल के विधायक पार्टी कार्यालय के आड़ में अवैध कब्जा करना चाहते हैं-भाजपा

केजरीवाल हिंदुओं की आस्था के साथ आखिर कब तक खेलेंगे-दिनेश प्रताप सिंह

@ chaltefirte.com                               नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय में  प्रदेश महामंत्री दिनेश प्रताप सिंह और प्रदेश प्रवक्ता  हरीश खुराना ने आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज के काले कारनामों का काला चिट्ठा सबके सामने उजागर किया और उससे सम्बंधित दस्तावेज और फोटोग्राफ भी मीडिया के सामने रखे। प्रेसवार्ता के दौरान प्रदेश मीडिया सह-प्रमुख  हरिहर रघुवंशी उपस्थित थे।

 दिनेश प्रताप सिंह ने आम आदमी पार्टी के विधायक और मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज पर आरोप लगाते हुए कहा कि सौरभ भारद्वाज ने अवैध रुप से गांव वालों की जमीन को कब्जा किया है। सौरभ भारद्वाज ने चिराग दिल्ली गांव में हिन्दुओं की आस्था से जुड़े 150 साल पुराने त्रिवेणी वृक्ष जहां रामलीला कार्यक्रम के साथ गांव की साभाएं भी होती हैं, लेकिन अब उस जमीन पर अवैध कब्जा कर पार्टी कार्यालय का निर्माण कार्य करवा रहे हैं। इस अवैध निर्माण के खिलाफ ग्रामीण कोर्ट में भी गए, जहां कोर्ट द्वारा तत्काल प्रभाव से निर्माण कार्य पर रोक लगा दी गई, लेकिन विधायक सौरभ भारद्वाज और ‘आप’ की स्थानीय निगम पार्षद पूजा जाखड़ की आपसी साठगांठ के बाद पार्टी दफ्तर बनाने का कार्य पीछे के दरवाजे से जारी है।

उन्होंने कहा कि भोंरो का चौक पर स्थित करीब 200 गज में फैली करोड़ों की इस जमीन के साथ गांव वालों की आस्था भी जुड़ी हुई है। गांव वाले मजबूरन एक बार फिर से कोर्ट में जाने को विवश हैं। खुद को दिल्ली का बेटा कहने वाले केजरीवाल की कथनी और करनी में काफी अंतर है, क्योंकि उनके संरक्षण में ही विधायक ग्रामसभा की इस जमीन को हथियाने की कोशिश कर रहे हैं। अरविन्द केजरीवाल से मैं पूछना चाहता हूं कि आखिर हिंदुओं की आस्था के साथ कब तक खेलते रहेंगे। उन्होंने कहा कि आप विधायक पूरी जमीन के चारों तरफ दीवार खड़ी करने के बाद छत डालने की तैयारी कर रहे हैं। स्थानीय निगम पार्षद पूजा जाखड़ इस भ्रष्टाचार में उनके साथ लिप्त हैं, लेकिन भारतीय जनता पार्टी ग्रामीणों की आवाज बनकर खड़ी है और सैकड़ों वर्ष पुरानी उनकी आस्था से जुड़ी इस जमीन पर किसी तरह से कब्जा नहीं होने देगी।

 हरीश खुराना ने आम आदमी पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि जमीन को अवैध रुप से हथियाना आम आदमी पार्टी के लिए कोई नई बात नहीं है। पहले भी ‘आप’ के विधायकों द्वारा जमीन हथियाने की कोशिश की जा चुकी है। भौरों वाले चौक की इस जमीन को लेकर 23 अक्टूबर 2020 को कोर्ट ने इस अवैध निर्माण पर रोक लगा दी थी और उसे गिराने का आदेश भी दे दिया था, लेकिन स्थानीय निगम पार्षद पूजा जाखड़ और विधायक सौरभ भारद्वाज ने मिलकर जबरन निर्माण कार्य करते रहे जो कोर्ट की अवहेलना है। उन्होंने आम आदमी पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि आप के आठ विधायकों का कार्यालय दिल्ली जल बोर्ड के परिसर के अंदर है जो गैर कानूनी है। उन्होंने केजरीवाल सरकार से सवाल पूछा कि आखिर किस अधिकार से दिल्ली जल बोर्ड के परिसर में इन विधायकों को कार्यालय बनाने की अनुमती दी गई है। ऐसा लगता है कि जमीन पर जबरन कब्जा करना आम आदमी पार्टी की रोजमर्रा की जिंदगी का एक हिस्सा बन गया है।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.