अगली औद्योगिक और हरित क्रांति नवाचार से मुमकिन-सुमित कुमार सिंह

@ chaltefirte.com                        पटना। मानव सभ्यता की विकास यात्रा ‘विज्ञान’ रूपी अश्वों पर सवार होकर ही नित नए आयाम गढ़ रही है। जनकल्याण से जुड़े अनेकानेक योजनाओं का क्रियान्वयन विज्ञान और नई तकनीक के बिना इतने बड़े पैमाने पर संभव नहीं हो पाता। इसलिए विज्ञान को जन-जन में लोकप्रिय बनाने की जरूरत है। इस क्षेत्र में हो रहे उत्कृष्ट प्रयासों और कार्यों को  प्रोत्साहित करने की जरूरत है।ये उदगार आज राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर इंदिरा गांधी विज्ञान भवन, तारामंडल सभागार में “विज्ञान, प्रौद्योगिकी, नवाचार का भविष्यः शिक्षा, कौशल एवं कार्य पर प्रभाव”  विषय पर आयोजित कार्यक्रम में विज्ञान प्रौद्योगिकी मंत्री सुमित कुमार सिंह  ने प्रकट किया ।
इस अवसर पर प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया गया।इस मौके पर विज्ञान और प्रोधोगकी विभाग के सचिव लोकेश कुमार सिंह समेत अन्य पदाधिकारी एवं गणमान्य लोग उपस्थित थे।अपने संबोधन में मंत्री सुमित कुमार सिंह ने कहा कि देश मे अगली औद्योगिक और हरित क्रांति विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार के माध्यम से कौशल विकास पर बल देकर ही लाया जा सकेगा। इसमें बिहार का अहम योगदान होगा। इसके लिए मैं इस क्षेत्र से जुड़े तमाम एक्सपर्ट लोगों व संस्थाओं का सुझाव और आईडिया और फीडबैक आमंत्रित करता हूं। आप अपना सुझाव मेरे फसेबूक पेज के अलावा ट्विटर पर @sumit4chakai पर भी दे सकते हैं।
Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.