पिछले छह सालों में केजरीवाल ने सिर्फ आराजकता फैलाने का काम किया है-आदेश गुप्ता

केजरीवाल सरकार ने केंद्र सरकार की योजनाओं को लागू करने के बजाय उन्हें रोकने का काम किया है-रामवीर सिंह बिधूड़ी

@ chaltefirte.com                             नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने आरोप लगाया है कि केजरीवाल सरकार अपने कार्यकाल का एक वर्ष पूरा होने पर अपनी एक भी उपलब्धि बताने में नाकाम हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार में दिल्ली पहले से ज्यादा बदहाल है। एक संयुक्त संवादाता सम्मेलन में आज यहां उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को वास्तव में सत्ता में आए छह साल हो चुके हैं लेकिन दिल्ली वाले आज भी दिल्ली बिजली, साफ पानी, वेब कैमरा, वाई-फाई, इलेक्ट्रिक बसे, प्रदूषण फ्री वातावरण, साफ एवं स्वच्छ यमुना, अच्छे स्वास्थ्य सेवा का इंतजार कर रहे हैं। इस संयुक्त संवादाता सम्मेलन में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी भी उपस्थित थे।

अरविन्द केजरीवाल को एक नाकाम मुख्यमंत्री करार देते हुए आदेश गुप्ता ने कहा कि खुद को सेक्यूलर कहने वाले केजरीवाल अपनी राजनीतिक स्वार्थ के लिए झूठ और पाखंड का सहारा लेते रहते हैं। दिल्ली में एक रामभक्त रिंकू शर्मा की हत्या पर मौन धारण किए हुए हैं लेकिन, 55 किलोमीटर दूर जाकर एक विशेष वर्ग के लिए एक करोड़ रुपये दे आते हैं। मध्यप्रदेश और बंगाल तक का सफर तय कर आते हैं लेकिन, ऐसी क्या मजबूरी हो गई कि रिंकू शर्मा के परिवारवालों से मिलने से भी इंकार कर दिए। उन्होंने कहा कि टूलकिट केस में दिशा रवि, निशा जैकब जैसे हिंसा फैलाने वालों के समर्थन में ट्वीट करते हैं लेकिन, एक बार भी 26 जनवरी को हुए हिंसक दंगों में घायल पुलिसकर्मियों, सुरक्षाबलों के जवानों में मिलने तक नहीं गए। आखिर देश विरोधी संगठनों के साथ खड़े होकर केजरीवाल क्या साबित करना चाहते हैं।

आदेश गुप्ता ने कहा कि दिल्ली जलबोर्ड में भ्रष्टाचार के दम पर केजरीवाल सरकार 26,000 करोड़ रुपये का घोटाला करने में कामयाब रही है। इसी तरह उन्होंने निगमों के 13,000 करोड़ रुपयों को भी रोक रखा है जिससे सफाई कर्मचारियों का वेतन, पार्कों का सौन्दर्यकरण, सड़कों की मरम्मत जैसे मूलभूत कार्य बाधित हो रहे हैं। केजरीवाल ने चिकित्सा सेवा में सुधार के लिए कदम नहीं उठाए जिस कारण केंद्र सरकार को हस्तक्षेप कर स्थिति में सुधार लाने का काम करना पड़ा। उन्होंने प्रवासी मजदूरों की सहायता की जगह यह कहकर प्रवासी मजदूरों को और भयभीत कर दिए कि आने वाले समय में दिल्ली की स्थिति और बदतर हो जाएगी। इसके बाद ही श्रमिक पलायन करने लगे और हज़ारों किलोमीटर दूर चलने पर मजबूर हो गए।

नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि चाहे मूलभूत सुविधाएं हो, शिक्षा, स्वास्थ्य परिवहन या और कोई विभाग हो, केजरीवाल सरकार हर मोर्चें पर विफल रही है। उन्होंने कहा कि पिछले छह सालों में बहुत सारे वायदें करने के बावजूद भी, सरकार एक भी वादा पूरा नहीं कर पाई है। केजरीवाल ने 16,00 नई बसें लाने की बात कही लेकिन, आज तक एक भी नई बस नहीं आई। सरकारी विद्यालयों में करीब 30,000 शिक्षकों का पद रिक्त पड़े हैं लेकिन अभी तक कोई नियुक्ति नहीं हुई।

रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि सड़कों में सुधार, झुग्गी बस्तियों, अवैध कार्यालयों और प्रदूषण जैसे मुद्दों पर केजरीवाल सरकार ने बड़े-बड़े वायदें किए, लेकिन इनमें एक भी काम पूरा नहीं किया। उन्होंने आरोप लगाया कि केजरीवाल सरकार ने केंद्र की योजनाओं जहां झुग्गी वही मकान, स्वास्थ्य और आवास जैसी योजनाओं को यहां लागू करना तो दूर बल्कि उनको रोकने का काम किया।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.