दिल्ली सरकार जारी करे उत्तरी दिल्ली नगर निगम के 1683 करोड़ रूपये – महापौर

@ chaltefirte.com                 दिल्ली। उत्तरी दिल्ली के महापौर जय प्रकाश ने आज प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए दिल्ली सरकार से उत्तरी दिल्ली नगर निगम के 1683 करोड़ रूपये जारी करने की मांग की। प्रेस वार्ता के दौरान उत्तरी दिल्ली नगर निगम में स्थायी समिति के अध्यक्ष  छैल बिहारी गोस्वामी, नेता सदन,  योगेश वर्मा और उपाध्यक्ष स्थायी समिति विजेंद्र यादव उपस्थित थे।

उत्तरी दिल्ली के महापौर  जय प्रकाश ने बताया कि आप पार्टी अब आरोप आदमी पार्टी बन गई है जो रोज़ नए-नए आरोप लगा कर भ्रम फैला रहे है। उन्होंने बताया कि अब आप पार्टी के प्रवक्ता रोज़ प्रेस वार्ता कर निगम को फंड जारी करने का भ्रम नागरिकों के मध्य फैला रही है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के पास अपनी कोई उपलब्धि नहीं है वो बस नगर निगमों से लड़ कर व निगमों को आधा अधूरा फंड दे कर सूर्खियां लेना चाहते है, जिसकी उन्होंने निंदा की। उन्होंने कहा कि वो बस थोथा चना बाजे घना की भांति बाते करते है।

महापौर ने कहा कि निगम विपरीत परिस्थितियों में भी दिल्ली की जनता को सेवाएं देने का कार्य कर रही है। दिल्ली सरकार ने अपने बजट प्रावधानों में दिल्ली नगर निगम को 2090 करोड़ रूपये देने का प्रावधान किया था और 14 जनवरी को दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने प्रेस वार्ता कर घोषणा की थी कि दिल्ली सरकार ने काफी परियोजनाएं रोक कर दिल्ली नगर निगम के कर्मचारियों के लिए 938 करोड़ रूपये निगम को जारी किए है। जिसमें से उत्तरी दिल्ली नगर निगम को एक पैसा नहीं मिला है। उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार ने आज तक नहीं बताया कि किसी निगम को कितना पैसा दिया है। और कौन-कौन सी परियोजना उन्होंने निगमों को फंड देने के लिए रोकी है।

महापौर ने कहा कि दिल्ली सरकार ने उत्तरी दिल्ली नगर निगम को अभी बस तीसरी तिमाही का ही पैसा जारी किया है जो हमारा संवैधानिक अधिकार है। उन्होंने बताया कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम का अभी 745 करोड़ रूपये दिल्ली सरकार पर बकाया है यानी 745 करोड़ रूपये और 938 करोड़ रूपये वेतन हेतु घोषित मिला कर कुल 1683 करोड़ रूपये अभी उत्तरी दिल्ली नगर निगम का दिल्ली सरकार पर बकाया है।

महापौर  ने दिल्ली सरकार से कुल 1683 करोड़ रूपये इसी वित्तीय वर्ष में जारी करने का निवेदन किया ताकि उत्तरी दिल्ली नगर निगम अपने कर्मचारियों को बकाया वेतन व सेवानिवृत्त कर्मचारियों को पेंशन दे सके। उन्होंने कहा कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम अपना राजस्व बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास कर रही है। जिसे के लिए निगम नागरिकों के लिए संपत्ति कर की आम माफी योजना लेकर आयी है ताकि नागरिक अपना बकाया संपत्ति कर बिना किसी ब्याज व जुर्माने के दे सके।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.