यमुना खादर में पोटा केबिन बनाकर नगर निगम करवाएगा विद्यालय का निर्माण-आदेश गुप्ता

कान्ति नगर में प्राथमिक विद्यालय का उद्घाटन संपन्न

@ chaltefirte.com                                 नई दिल्ली। दिल्ली नगर निगम यमुना खादर में पोटा केबिन बनाकर विद्यालय का निर्माण करवाएगा जिससे उसमें 2,000 से अधिक बच्चों को शिक्षा दी जा सकेगी। ये बातें प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कान्ति नगर में एक प्राथमिक विद्यालय के उद्घाटन अवसर पर कही। इस समारोह की अध्यक्षता निगम पार्षद कंचन महेश्वरी ने की। विद्यालय के उद्घाटन मौके पर पूर्वी दिल्ली नगर निगम के महापौर निर्मल जैन, मीडिया प्रमुख नवीन कुमार, नेता सदन प्रवेश शर्मा, निगम पार्षद श्यामसुंदर अग्रवाल, प्रदेश प्रवक्ता आदित्य झा, विधायक अनिल वाजपेयी, निगम शिक्षा समिति के अध्यक्ष रोमेश गुप्ता, शाहदरा जिला अध्यक्ष राम किशोर शर्मा, मंडल अध्यक्ष मनोज कुमार, शाहदरा जिला महिला मोर्चा अध्यक्षा दीपिका जैन, राजन वर्मा, कृष्ण भारद्वाज, कुसुम गुप्ता, संजय जैन सहित प्रदेश, जिला एवं मंडल के पदाधिकारी मौजूद थे।

आदेश गुप्ता ने कहा कि पूर्वी दिल्ली निगम द्वारा इस मुश्किल की घड़ी में भी लगातार शिक्षा के उत्थान के लिए काम करना और लगातार मेहनत का ही नतीजा है कि आज एक अच्छे स्कूल का भवन बनकर तैयार हुआ है। कोरोना काल के अंदर भी जनहित में और जरुरत मंदों के लिए पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने कई काम किए। कोरोना वरियर्स के रुप में पूर्वी दिल्ली के अध्यापकों ने लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन शिक्षा पर जोर दिया और पूर्वी दिल्ली के 357 निगम विद्यालयों में लगभग पौने दो लाख बच्चों को इसका लाभ हुआ। इसी का परिणाम है कि कोरोना संकट के दौरान भी पूर्वी दिल्ली नगर निगम के विद्यालयों में 38,000 नए एडमिशन हुए हैं, जिसके लिए पूर्वी दिल्ली के शिक्षकों को धन्यवाद देता हूं।

आदेश गुप्ता ने दिल्ली सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि केजरीवाल सरकार द्वारा निगम के फंड में कटौती करने के बावजूद यह भव्य नई बिल्डिंग बनकर तैयार हुई है। शिक्षा मॉडल की बड़ी-बड़ी बातें करने वाले शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया को एक बार पूर्वी नगर निगम के इस भवन को देखना चाहिए। उन्होंने कहा कि केजरीवाल को दिल्ली की कोई चिंता नहीं है क्योंकि अगर उन्हें चिंता होती तो बड़ी संख्या में मजदूर पलायन नहीं करते, शिक्षा मॉडल के नाम पर झूठे प्रचार नहीं करवाए जाते, यमुना खादर में विद्यालय बनवाने का काम करते और नगर निगम का 13,000 करोड़ रुपये वापस करते ताकि निगमकर्मियों को समय पर वेतन मिल पाता। केजरीवाल को सिर्फ क्रेडिट लेने का शौक है और वे खुद का राजनीतिक विस्तार दिल्ली के टैक्स पेयर्स के पैसों से कर रहे हैं।

इस अवसर पर पूर्वी दिल्ली महापौर निर्मल जैन ने कहा कि दिल्ली सरकार ने जितना पैसा निगम को देने के नाम पर प्रचार में लगाया है उतना भी पैसा पूर्वी दिल्ली नगर निगम को नहीं दिया है। पूर्वी दिल्ली नगर निगम के कर्मचारियों का वेतन 2196 करोड़ रुपये सलाना है, लेकिन केजरीवाल सरकार ने पिछले वर्ष सिर्फ 144 करोड़ रुपये ही दिए हैं। केजरीवाल निगम को पंगु बनाने का काम कर रहे हैं।निगम पार्षद कंचन महेश्वरी ने कहा कि इस स्कूल के जीर्णोद्धार में एक करोड़ 75 लाख की लागत से 12 कमरे, 6 स्टोर रूम व टॉयलेट ब्लॉक का निर्माण किया गया है। दिल्ली सरकार सिर्फ विज्ञापन पर ध्यान देती है। केजरीवाल सरकार फण्ड के लिए निगम को परेशान करती है और झूठे आरोप लगाती है।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.