अदालत चौराहे पर दिखेगी स्वतन्त्रता आन्दोलन की झलक,हाथी देंगे सलामी

महाराणा प्रताप सर्किल पर रोटरी एवं अंडरपास बनेगा

डॉ. प्रभात कुमार सिंघल
कोटा। स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने शनिवार को स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत शहर में चल रहे विकास कार्यों का निरीक्षण कर प्रगति के बारे में जानकारी ली तथा नवीन परियोजनाओं के बारे में अधिकारियों से विचार विमर्श कर तकमीना तैयार करने के निर्देश दिये।
स्वतन्त्रता आन्दोलन की गाथा दिखेगी-
स्वायत्त शासन मंत्री ने अदालत चौराहे के सौन्दर्यकरण कार्य का निरीक्षण कर पूर्ण गति के साथ कार्य को समय पर पूरा कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि यह सर्किल 1857 के स्वतन्त्रता आन्दोलन की याद दिलाता है इसे भव्यता प्रदान करते हुए इस प्रकार तैयार करें कि देश के स्वतन्त्रता आन्दोलन के शहीदों का योगदान आने वाली पीढियों को प्रेरणा देता रहे। उन्होंने मूल स्टेच्यू को 10 फीट उंचाई के हाथियों के द्वारा सलामी देते हुए उंचाई पर रखने तथा 1857 से लेकर 1947 तक स्वतन्त्रता आन्दोलन की प्रमुख घटनाओं को पत्थर की नक्कासी पर उकेरने के निर्देश दिये। तिरंगे को हाथ में लेकर आन्दोलनकारियों के संघर्ष को इसमें उकेरा जायेगा। सर्किल पर चार तोप लगाई जायेगी जिससे भव्यवता के साथ निखार आ सके। उन्होंने अम्बेडकर प्रतिमा को भी भव्यता प्रदान करने के निर्देश देते हुए लोहे के स्ट्रक्चर के स्थान पर पत्थर की गोलाकार सिढियों के स्ट्रक्चर पर और अधिक उंचाई पर स्थापित करने तथा परिसर को आकर्षक रूप में तैयार करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण अदालत परिसर को भव्यता देते हुए हैरिटेज लाईटंे भी लगाई जायें। उन्होंने कोर्ट पार्किंग के कार्य को भी शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिये।
फरवरी तक होगा अंटाघर अंडरपास-
स्वायत्त शासन मंत्री ने अन्टाघर चौराहे के निरीक्षण के समय संवेदक को फरवरी 21 तक निर्माण कार्य को पूरा कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि निर्धारित समय में कार्य पूरा नहीं करने पर पैनल्टी लगाई जायेगी। अंडरपास से राहगीरों को गुजरते समय गार्डन दिखाई दे इसके लिए लैण्डस्केप पर गुणवत्ता युक्त पौधे लगाये जावे। फ्लाईओवर पर कर्व स्टोन लगाकर हैरिटेज लुक में तैयार करें। उन्होंने अंडरपास के पानी की निकासी की पुख्ता व्यवस्था करने के निर्देश भी दिये।
प्रताप सर्किल पर बनेगी रोटरी-
स्वायत्त शासन मंत्री ने महाराणा प्रताप सर्किल कुन्हाडी का भी निरीक्षण किया जहां यातायात दबाव को देखते हुए बडी रोटरी एवं अंडरपास का प्लान तैयार करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जयपुर से कोटा आने-जाने वाले वाहनों, बालिता रोड़ एवं नान्ता रोड़ आने-जाने वाले वाहनों को बिना रूके निर्बाध आवागमन का प्लान शामिल करने के निर्देश दिये। उन्होंने महाराणा प्रताप की प्रतिमा को भी भव्यता प्रदान करने के साथ चौराहे को हैरिटेज रूप में बनाने का प्लान तैयार करने की बात कही। उन्होंने पुराने चुंगी नाके पर 12 फीट उंचाई का भ्रमणशील एलईडी सर्किल का प्लान बनाने के निर्देश दिये।
देश दुनिया देखने आयेगी चम्बल रिवर फ्रन्ट
स्वायत्त शासन मंत्री ने चम्बल नदी पर 700 करोड़ की लागत से बन रहे रिवर फ्रन्ट का निरीक्षण कर कार्य को गति प्रदान करने हुए समय पर पूरा कराने के निर्देश दिये। उन्होंने रिवर फ्रन्ट पर बनने वाले 30 घाटों की डिजाइन का विस्तृत परीक्षण कर जवाहर घाट पर बनने वाली जवाहर प्रतिमा पर चम्बल पर बनने वाले बांधों का विवरण का उल्लेख करने, प्रतिमा की आंखों से दर्शक चम्बल को निहार सकें इस प्रकार तैयार का प्लान तैयार करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि मोहनलाल सुखाडिया घाट भी रिवर फ्रन्ट पर तैयार किया जाकर प्रदेश के विकास योगदान को उल्लेखित किया जावे। उन्होंने कहा कि चम्बल रिवर फ्रन्ट तैयार होने के बाद देश दुनिया देखने आयेगी इस भव्यता के साथ तैयार करें। उन्होंने प्रत्येक घाट के निर्माण में राजस्थान की संस्कृति एवं स्थापत्य शैली का दिग्दर्शन दिखाई दे इस प्रकार तैयार करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि चम्बल रिवर फ्रंट देश दुनिया का नायाब स्थान होगा इसको देखने के बाद देश-दुनिया के पर्यटक बार-बार इसे देखने आयेगें।
स्वायत्त शासन मंत्री के दौरे के दौरान शासन सचिव शहरी विकास भवानीसिंह देथा, जिला कलक्टर उज्ज्वल राठौड़, महापौर कोटा उत्तर मंजू मेहरा, दक्षिण राजीव अग्रवाल, उप महापौर पवन मीणा, विशेषाधिकारी यूआईटी आरडी मीणा, सचिव राजेश जोशी, यूआईटी के पूर्व अध्यक्ष रविन्द्र त्यागी, मुख्य अभियंता ओपी वर्मा, अभियंतागण एवं कंसल्टेन्ट अनूप भरतरिया सहित जनप्रतिनिधी उपस्थित रहे।

Post add

Leave A Reply

Your email address will not be published.