Header Ads

नाथूराम गोडसे को 'देशभक्त' बताने वालीं प्रज्ञा ठाकुर पर लिया गया ये बड़ा फैसला


बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर पर बड़ा फैसला लिया गया है। उन्हें रक्षा मंत्रालय की सलाहकार समिति से हटा दिया गया है। यह जानकारी बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने न्यूज एजेंसी एएनआई को दी।
बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बताया कि प्रज्ञा सिंह ठाकुर को रक्षा मंत्रालय की सलाहकार समिति से हटा दिया जाएगा और इसके अलावा इस सत्र में उन्हें संसदीय दल की बैठकों में भाग लेने की भी अनुमति नहीं दी जाएगी।
जेपी नड्डा ने प्रज्ञा ठाकुर द्वारा बुधवार को संसद में नाथूराम गोडसे को राष्ट्रभक्त करार दिए जाने के बयान की निंदा की। उन्होंने कहा कि बीजेपी इस तरह के बयान और विचारधारा का समर्थन नहीं करती है।
बता दें कि प्रज्ञा ठाकुर ने बुधवार को लोकसभा में एसपीजी संशोधन विधेयक पर चर्चा के दौरान राष्ट्रपति महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त करार दिया था। कांग्रेस सांसदों ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई थी। प्रज्ञा के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा था कि इस तरह की टिप्पणी राष्ट्रहित में नहीं हैं।
सदन में डीएमके सांसद ए. राजा ने चर्चा में हिस्सा लेते हुए नकारात्मक मानसिकता को लेकर गोडसे का उदाहरण दिया। इस पर प्रज्ञा ठाकुर अपने स्थान पर खड़ी हो गईं और कहा कि देशभक्तों का उदाहरण मत दीजिए। कांग्रेस ने इस पर सख्त विरोध जताया। 
हंगामा बढ़ता देख लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने कहा कि सिर्फ डीएमके सदस्य ए. राजा का बयान रिकार्ड में जा रहा है। बाद में लोकसभा सचिवालय ने आधिकारिक बयान में कहा कि प्रज्ञा की टिप्पणी रिकार्ड में दर्ज नहीं की गई है। 

No comments