Header Ads

महाराष्ट्र और हरियाणा में 21 अक्टूबर को होंगे चुनाव, 24 अक्टूबर को आएंगे परिणाम


नई दिल्ली। चुनाव आयोगों की तारीखों का ऐलान हो गया है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने प्रेस सम्मेलन में सबसे पहले देशवासियों ने माफी मांगी और कहा कि हमने आपका शनिवार बर्बाद कर दिया। चुनाव आयोग ने हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान करते हुए कहा कि महाराष्ट्र में 8.9 करोड़ और हरियाणा में 1.28 करोड़ मतदाता हैं। आपको बता दें कि हरियाणा और महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव होंगे और 24 अक्टूबर के दिन उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होगा यानि चुनाव परिणाम घोषित होंगे।
 चुनाव का पूरा शेड्यूल:
नॉटिफिकेशन की तारीख: 27 सितंबर
नामांकन की आखिरी तारीख: 4 अक्टूबर
स्क्रूटनी की तारीख: 5 अक्टूबर
नामांकन वापसी की तारीख: 7 अक्टूबर
चुनाव प्रचार का आखिरी दिन: 19 अक्टूबर
मतदान: 21 अक्टूबर
चुनाव परिणाम: 24 अक्टूबर
साल 2014 में दोनों राज्यों में 15 अक्टूबर को मतदान हुए थे और चुनाव परिणाम 19 अक्टूबर को आए थे। जिसके बाद हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर ने तो महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।

चुनाव आयोग की बड़ी बातें:
महाराष्ट्र और हरियाणा में 21 अक्टूबर को होंगे चुनाव और 24 अक्टूबर को वोटों की गिनती होगी।
अरुणाचल की 1, असम की 4, बिहार की 5, छत्तीसगढ़ की 1, गुजरात की 4, हिमाचल प्रदेश की 2, कर्नाटक की 15, केरल की 5, मध्य प्रदेश की 1, मेघालय की 1, राजस्थान की 2, सिक्किम की 3, तमिलनाडु की 2, तेलंगाना की 1 और यूपी की 11 सीटों पर 21 अक्टूबर को ही उपचुनाव होंगे और सभी सीटों के नतीजे महाराष्ट्र और हरियाणा चुनाव के साथ घोषित होंगे।
मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि महाराष्ट्र के गढ़चिरौली और गोंदिया में विशेष सुरक्षा व्यवस्था की जाएगी।
अलग-अलग राज्यों की 64 विधानसभा सीटों पर भी होंगे उपचुनाव।
सुनील अरोड़ा ने कहा कि अगर कोई उम्मीदवार अपने आपराधिक रिकॉर्ड की जानकारी नहीं देता है तो उसका पर्चा रद्द कर दिया जाएगा।
मुख्य चुनाव आयुक्त ने उम्मीदवारों से कहा कि चुनाव में प्लास्टिक का इस्तेमाल न करें।
उम्मीदवारों की चुनाव खर्च सीमा 28 लाख रुपए है। मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि चुनावी खर्च की निगरानी के लिए पर्यवेक्षकों को भेजा जाएगा।
मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि सभी उम्मीदवारों को अपने हथियार जमा कराने होंगे।
हरियाणा में 1.3 लाख ईवीएम का जबकि महाराष्ट्र में 1.8 लाख ईवीएम का इस्तेमाल होगा।
लोकसभा चुनाव की तरह ही विधानसभा चुनाव में भी EVM और VVPAT पर्चियों का मिलान होगा। 
हरियाणा और महाराष्ट्र सरकार का कार्यकाल 2 नवंबर और 9 नवंबर को समाप्त हो रहा है।
आज से दोनों राज्यों में चुनाव आचार संहिता लागू हो गई।
महाराष्ट्र में विधानसभा की 288 सीटों के लिए चुनाव होना है। यहां पर बीजेपी और शिवसेना गठबंधन की सरकार है।
हरियाणा के लिए 90 सीटों पर विधानसभा का चुनाव होना है। मौजूदा समय में बीजेपी सत्ताधारी दल है।

No comments