Header Ads

राष्ट्रीय अंतरराज्यीय एथलेटिक्स चैंपियनशिप :उत्तर प्रदेश की इस बेटी ने दिलाया पहला स्वर्ण


पीएसी के एथलेटिक्स स्टेडियम में शुरू हुई राष्ट्रीय अंतरराज्यीय एथलेटिक्स चैंपियनशिप के पहले दिन मेरठ की पारुल चौधरी ने उत्तर प्रदेश के लिए पहला स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने यह स्वर्ण 5000 मीटर की दौड़ में जीता। वहीं सुबह प्रियंका गोस्वामी ने 20 किलोमीटर पैदल चाल में रजत पदक जीतकर उत्तर प्रदेश का पदकों का खाता खोला था। पहले दिन एशियाई चैंपियन तमिलनाडु के  लक्ष्मणन गोविन्दन ने पुरुषों की 5000 मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक जीता। केरल के एथलीटों ने चार स्वर्ण पदक जीते। ये स्वर्ण पदक सुबह सौम्या बी. ने 20 किलोमीटर पैदल चाल, अथिरा सोमराज ने हाई जम्प, जेसन ने पोलवाल्ट में जीते। वहीं पहली दफा राष्ट्रीय स्तर पर हुई मिक्स रिले का स्वर्ण पदक भी केरल के नाम रहा। वहीं तमिलनाडु की अर्चना सुसीन ने 200 मीटर और राजस्थान की मंजूबाला ने हैमर थ्रो के स्वर्ण पदक अपने नाम किए। पहले दिन भारी उमस के कारण कोई भी एथलीट विश्व चैंपियनशिप के क्वालीफाइंग मार्क के आसपास भी नहीं पहुंच पाया।
दोहा एशियाई चैंपियनशिप में  गोल्डेन डबल करने वाले लक्ष्मणन गोविन्दन ने यहां 5000 मीटर की दौड़ में आसानी से स्वर्ण पदक जीत लिया। उन्होंने 14 मिनट 34.30 सेकेंड का समय निकाला। जो विश्व चैंपियनशिप के लिए क्वालीफाइंग मार्क से एक मिनट ज्यादा है। लक्ष्मणन अब बुधवार को 1500 मीटर की दौड़ में गोल्डेन डबल करने के लिए उतरेंगे। वहीं एशियन चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता पारुल चौधरी ने गति और दमखम का शानदार नमूना पेश करते हुए 5000 मीटर की दौड़ का स्वर्ण पदक अपने नाम किया। उन्होंने 17 मिनट 51.38 सेकेंड का समय निकाला। अंतरराष्ट्रीय एथलीट एल. सूरिया को रजत पदक से संतोष। करना पड़ा।
हैमर थ्रो में अंतरराष्ट्रीय थ्रोअर मंजूबाला ने करीब पांच साल बाद स्वर्ण पदक के साथ वापसी की। उन्होंने 57.71 मीटर का थ्रो किया। वह अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन (62.56 मीटर) से काफी दूर रह गईं। सुबह हुई 20  किलोमीटर पैदल चाल में केरल की बी. सौम्या और उत्तर प्रदेश की प्रियंका गोस्वामी के बीच कांट के टक्कर हुई। आखिर के 50 मीटर स्वर्ण पदक का फैसला हुआ। सौम्या ने 1 घंटा 48 मिनट 19.35 सेकेंड का समय निकालकर स्वर्ण पदक जीता। वहीं रजत पदक से संतोष करने वाली प्रियंका गोस्वामी ने 1 घंटा 48 मिनट 21.61 सेकेंड का समय निकाला। 
उमस और गर्मी से सभी परेशान
35.5 डिग्री सेल्सियस तापमान और 95 फीसदीआद्रता....ऐसे वातावरण में पहले दिन एथलीट अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के करीब भी नहीं पहुंच पाए। एशियाई चैंपियन लक्ष्मणन गोविन्दन 5000 मीटर की दौड़ 13 मिनट 36 सेकेंड की लगा चुके हैं। पर यहां उन्हें दौड़ने में थकान भी ज्या लगी और समय 14.34 सेकेंड लिया। यही नहीं नौ एथलीट तो दौड़ भी नहीं पूरी कर पाए। बाकी दो एथलीट 16 मिनट और दो एथलीटों ने 17 मिनट से भी ज्यादा का समय लिया दौड़ पूरी करने में। लक्ष्मणन ने कहा भी दौड़ पूरी करना मुश्किल हो गया। यह दौड़ अगर शाम छह बजे के बाद होती तो समय और अच्छा होता।

No comments