Header Ads

उन्नाव रेप कांड: केंद्र सरकार ने सीबीआई को सौंपी पीड़िता के साथ हादसे की जांच


केंद्र सरकार ने रेप के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ दर्ज मुकदमे की मुख्य गवाह के साथ रविवार को रायबरेली में हुए सड़क हादसे की जांच सीबीआई से कराने को मंजूरी दे दी है। इस हादसे में रेप पीड़िता बुरी तरह घायल हो गई, जबकि मुकदमे की एक अन्य गवाह समेत दो लोगों की मौत हो गई थी।
मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ की मंजूरी के बाद प्रदेश के गृह विभाग ने घटना के दूसरे ही दिन सोमवार को सीबीआई जांच की सिफारिश करते हुए केंद्र सरकार को पत्र भेज दिया था। केंद्र सरकार ने मंगलवार को प्रदेश सरकार का यह अनुरोध स्वीकार कर लिया। साथ ही हादसे के संबंध में रायबरेली के गुरुबख्शगंज थाने में क्राइम नंबर 305/2019 पर दर्ज मुकदमे की जांच सीबीआई को स्थानान्तरित कर दी। यह मुकदमा धारा 302, 307, 506 और 120 बी के तहत दर्ज किया गया था।
इसमें पहले से जेल में बंद विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के अलावा मनोज सिंह सेंगर, विनोद मिश्र, हरिपाल सिंह, नवीन सिंह, कोमल सिंह, अरुण सिंह, ज्ञानेन्द्र सिंह, रिंकू सिंह व वकील अवधेश सिंह को नामजद करते हुए 20 अन्य लोगों को नामजद किया गया है। हादसे के बाद पुलिस ने दुर्घटना करने वाले ट्रक के ड्राइवर आशीष पाल व क्लीनर मोहन को गिरफ्तार कर लिया था। फतेहपुर निवासी ट्रक मालिक देवेन्द्र किशोर पाल को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। 
सीबीआई के केस हाथ में लेने तक जांच जारी रहेगी
मामला सीबीआई को स्थानान्तरित हो जाने से पहले एसआईटी से जांच कराई जा रही थी। रायबरेली के अपर पुलिस अधीक्षक (एएसपी) शशि शेखर को इसका प्रमुख बनाया गया है। प्रदेश के आईजी कानून-व्यवस्था प्रवीण कुमार का कहना है कि सीबीआई के स्तर से इस मामले की जांच अपने हाथ में लिए जाने तक प्रदेश पुलिस अपनी जांच जारी रखेगी, ताकि घटना से जुड़े सभी पहलुओं से जुड़े तथ्य जुटाए जा सकें। रायबरेली के एएसपी शशि शेखर की अगुवाई में गठित इस एसआईटी में तीन क्षेत्राधिकारियों (सीओ) गोपीनाथ सोनी, लक्ष्मीकांत गौतम व आरपी शाही को भी शामिल किया गया है।
उन्नाव रेप पीड़िता ने चीफ जस्टिस को 12 जुलाई को लिखा था खत
उन्नाव रेप केस की पीड़िता ने इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई को भी खत लिखा था। यह खत 12 जुलाई 2019 को उन्नाव रेप पीड़िता की तरफ से लिखा गया है। इसमें यह कहा गया है- “उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई कीजिए जो हमें धमका रहे हैं।” पत्र में आगे लिखा गया है- “लोग मेरे घर आते हैं, धमकाते हैं और केस वापस लेने की बात कर ये कहते हैं कि ऐसा नहीं किया तो पूरे परिवार को फर्जी केस में जेल में बंद करवा देंगे।
पीड़िता से मिलने पहुंचे अखिलेश यादव, कहा- बीजेपी सरकार इसके लिए जिम्मेदार
उन्नाव कांड पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव मंगलवार को लखनऊ में पीड़िता से मुलाकात करने पहुंचे। उन्होंने बीजेपी और उसकी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी और सरकार कुछ भी कह सकती है और कुछ भी कर सकती है। उन्होंने कहा कि पुलिस वो कह रही है जो सरकार कहलवाना चाहती है। अखिलेश यादव ने पूछा कि क्या हमने डायल 100 इसलिए दिया था ताकि जनता को न्याय न मिले।

No comments