Header Ads

चंद्रयान-2 - 22 जुलाई को होगा लॉन्च, 15 जुलाई को नहीं हो सकी थी लॉन्चिंग


चंद्रयान-2 अब 22 जुलाई को लॉन्च होगा। इसरो ने ट्विट करके इसकी जानकारी दी है। इसरो के मुताबिक, तकनीकी दिक्कत के चलते 15 जुलाई को चंद्रयान-2 लॉन्चिग टाल दी गई थी। इसरो ने बताया है कि चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग सोमवार  सुबह दो बजकर 43 मिनट पर होगी। 
आपको बता दें कि जीएसएलवी-एमके3 के क्रायोजेनिक इंजन की हीलियम बॉटल में लीक के कारण भारतीय रक्षा अनुसंधान संगठन (इसरो) ने अपने महत्वकांक्षी चंद्रयान-2 मिशन को रोकना पड़ा था। यान के प्रक्षेपण से केवल 56 मिनट पहले इसे रोकना पड़ा। यदि सबकुछ ठीक रहता तो यान अपने निर्धारित समय 2.51 मिनट पर प्रक्षेपित किया जाना था।
इसरो ने आधिकारिक तौर पर जीएसएलवी-एमकेआई 3 में आई तकनीकी खामी की पुष्टि की। वहीं पांच सूत्रों ने आधिकारिक तौर पर पुष्टि करते हुए कहा कि साइक्रोजेनिक स्टेज पर लीक के कारण प्रक्षेपण को रोकना पड़ा। इसरो ने ट्वीट करते हुए कहा कि एहतियातन उपाय अपनाते हुए चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण को रोका जाता है। 
श्रीहरिकोटा में सोमवार तड़के देशभर के 5,000 लोग पहली बार रॉकेट लॉन्च को अपनी आंखों से देखने के लिए इकट्ठा हुए थे। उन्होंने इस तरह की निराशा की उम्मीद तक नहीं की थी। मिशन कंट्रोल सेंटर की वीआईपी गैलरी में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी मौजूद थे। मिशन के रुकने से सभी के हाथ मायूसी लगी। 978 करोड़ रुपये के चंद्रयान मिशन में जीएसएलवी-एमके 3 लॉन्च व्हीकल का इस्तेमाल किया गया है। जिसमें थ्री-स्टेज क्रायोजेनिक तकनीक से लैस सीई-20 इंजन लगा हुआ है। क्रायोजेनिक स्टेज में ईंधन के तौर पर लिक्विड हाइड्रोजन और ऑक्सीडाइजर के रूप में लिक्विड ऑक्सीजन का उपयोग करता है। 31 जुलाई को वर्तमान लॉन्च विंडो खत्म होने से पहले एजेंसी रॉकेट को जमीन पर उतारने की कोशिश कर रही है। प्रक्षेपण की अगली संभावित तिथि अब सितंबर में होगी।

No comments