Header Ads

पाकिस्तानी महिला के खिलाफ जारी 'भारत छोड़ो नोटिस' HC ने किया निरस्त


दिल्ली हाईकोर्ट ने एक पाकिस्तानी महिला को जारी 'भारत छोड़ो नोटिस मंगलवार को निरस्त कर दिया। कोर्ट ने कहा कि केंद्र सरकार ने महिला को अपने देश जाने का आदेश देते वक्त प्रक्रिया का पालन नहीं किया। महिला ने एक भारतीय व्यक्ति से शादी की है और 2005 से भारत में रह रही है।
कोर्ट का फैसला महिला के पति की याचिका पर आया। 37 वर्षीय महिला शादी करके 2005 में भारत आई थी। वह तब से अपने पति के साथ दिल्ली में रह रही है। उसके 11 और पांच साल के दो बेटे हैं।
न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, चीफ जस्टिस राजेंद्र मेनन और जस्टिस ए.जे. भंभानी की बैंच ने एकल न्यायाधीश के उस आदेश को भी निरस्त कर दिया जिसमें महिला को 15 दिन के भीतर देश छोड़ने के लिए केंद्र की ओर से दिए गए निर्देश को बरकरार रखा गया था। कोर्ट ने कहा कि वह प्रक्रिया के पालन के अभाव में भारत छोड़ो नोटिस को निरस्त कर रही है और सरकार को निर्देश दिया कि वह नागरिकता के लिए महिला के आवेदन पर विचार करे।
बैंच ने सरकार के इस रुख से भी असहमति जताई कि फैसला प्रतिकूल सुरक्षा रिपोर्ट के आधार पर किया गया। कोर्ट ने कहा कि खुफिया सूचना समेत अदालत के समक्ष रखी गई सामग्री उसके खिलाफ कदम उठाने के लिए पर्याप्त नहीं है। 

No comments