Header Ads

मोदी सरकार ने ली शपथ, अमित शाह, जयशंकर भी बने कैबिनेट मंत्री


नयी दिल्ली। लोकसभा चुनावों में प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आए भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के नेता के तौर पर नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में एक भव्य समारोह में मोदी व उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई। करीब दो घंटे चले शपथ ग्रहण समारोह में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की जीत के सूत्रधार रहे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर आकर्षण का केंद्र रहे। खासकर जयशंकर को मंत्रिमंडल में शामिल कर और कैबिनेट मंत्री का दर्जा देकर प्रधानमंत्री मोदी ने सभी को चौंका दिया। जयशंकर भारतीय विदेश सेवा के दूसरे ऐसे अधिकारी हैं जिन्हें मोदी ने अपने मंत्रिमंडल में स्थान दिया है। सरकार में शामिल किए गए हरदीप सिंह पुरी भी भारतीय विदेश सेवा के वरिष्ठ अधिकारी रहे हैं। मोदी ने शपथ ग्रहण करने के बाद ट्वीट में कहा, ‘‘भारत की सेवा कर गौरवान्वित।
शपथ ग्रहण समारोह का रंग तब कुछ फीका पड़ता नजर आया जब नए मंत्रिमंडल में राजग के पुराने सहयोगी जनता दल यू ने अपने किसी प्रतिनिधि को शामिल करने से इनकार कर दिया। मोदी के पहले मंत्रिमंडल के प्रमुख सदस्य व भाजपा के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली व सुषमा स्वराज को नई सरकार में स्थान नहीं मिला है। स्वराज ने जहां इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा वहीं जेटली ने स्वास्थ्य कारणों से मंत्री बनने से बुधवार को ही इंकार कर दिया था। राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में आमंत्रित लगभग आठ हजार खास मेहमानों की मौजूदगी में क्रीम रंग का कुर्ता पायजामा एवं अपनी चिरपरिचित जैकेट पहने मोदी ने शपथ लेने के बाद राष्ट्रपति के पास जाकर उनसे गर्मजोशी के साथ हाथ मिलाया और मुस्कुराते हुए उनसे बधाई स्वीकार की। समारोह में उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस, कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल सहित कई राज्यों के मुख्यमंत्री, कई देशों के प्रमुख, संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित विभिन्न गणमान्य लोग उपस्थित थे। शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत करने वाले ‘‘बंगाल की खाड़ी बहु क्षेत्रीय तकनीकी एवं आर्थिक सहयोग उपक्रम’’ (बिमस्टेक) के नेताओं में बांग्लादेश के राष्ट्रपति अब्दुल हामिद, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना, नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली, म्यामांर के राष्ट्रपति यू विन म्यिंट एवं भूटान के प्रधानमंत्री लोताय शेरिंग शामिल हैं। मोदी के बाद राजनाथ सिंह और फिर अमित शाह ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। बेगूसराय में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी उम्मीदवार कन्हैया कुमार को हराने वाले तेज तर्रार नेता गिरिराज किशोर का भी दर्जा बढ़ाकर उन्हें कैबिनेट मंत्री का दायित्व दिया गया है।
मोदी के नये मंत्रिमंडल के 24 कैबिनेट मंत्रियों में भाजपा के 20 तथा राजग के घटक शिवसेना, लोजपा एवं शिरोमणि अकाली दल के एक एक सदस्य शामिल हैं। अभी यह स्पष्ट नहीं है कि जयशंकर ने भाजपा की सदस्यता ली है या नहीं। मोदी के कैबिनेट मंत्रियों में मुख्तार अब्बास नकवी एकमात्र मुस्लिम चेहरा हैं। नयी सरकार में जहां भाजपा अध्यक्ष शाह को शामिल किया गया है वहीं उत्तर प्रदेश, बिहार एवं महाराष्ट्र की पार्टी इकाइयों के प्रमुख क्रमश: महेन्द्र नाथ पांडेय, नित्यानंद राय एवं राव साहब दान्वे को भी स्थान दिया गया है। मोदी मंत्रिमंडल के कैबिनेट मंत्रियों में राजनाथ सिंह, अमित शाह, नितिन गडकरी, डी वी सदानंद गौड़ा, निर्मला सीतारमण, राम विलास पासवान, नरेन्द्र सिंह तोमर, रविशंकर प्रसाद, हरसिमरत कौर, थावर चंद गहलोत, डॉ. एस जयशंकर, रमेश पोखरियाल निशंक, अर्जुन मुंडा, स्मृति ईरानी, डॉ. हर्षवर्धन, प्रकाश जावडे़कर, पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान, मुख्तार अब्बास नकवी, प्रहलाद जोशी, डॉ. महेन्द्र नाथ पांडे, अरविंद सावंत, गिरिराज सिंह और गजेन्द्र सिंह शेखावत शामिल हैं।
इसके साथ ही नौ स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्रियों ने भी शपथ ली। नयी सरकार में 24 राज्य मंत्रियों ने शपथ ली। राज्य मंत्रियों में रामदास अठावले का भी नाम शामिल है, जो राजग के घटक आरपीआई (ए) के प्रमुख हैं और पिछली मोदी सरकार में भी शामिल थे। सरकार में पहली बार शामिल होने वालों में जयशंकर के अलावा प्रह्लाद जोशी, अरविंद सावंत, अर्जुन मुंडा, रमेश पोखरियाल निशंक, रत्न लाल कटारिया, रामेश्वर तेली, कैलाश चौधरी, नित्यानंद राय, प्रताप चंद्र सारंगी, डी मुरलीधर, सोम प्रकाश, रेणुका सिंह, देबाश्री चौधरी, किशन रेड्डी, राव साहब दानवे, संजय धोत्रे आदि शामिल हैं। अनुराग सिंह ठाकुर मोदी सरकार में पहली बार शामिल किए गए हैं।  
जेटली, सुषमा, उमा, राधामोहन शामिल नहीं
नरेन्द्र मोदी के दूसरे कार्यकाल में बृहस्पतिवार को उनके अलावा 24 कैबिनेट मंत्रियों, नौ राज्य मंत्रियों स्वतंत्र प्रभार के सहित 57 मंत्रियों ने शपथ ली। मंत्रिपरिषद में राजनाथ सिंह और अमित शाह के अलावा पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर को शामिल किया गया है। मंत्रिपरिषद में वरिष्ठ नेता अरुण जेटली, सुषमा स्वराज, सुरेश प्रभु, मेनका गांधी, राधा मोहन सिंह, महेश शर्मा, राज्यवर्द्धन सिंह राठौर, सत्यपाल सिंह और के जे एलफोंस को नयी सरकार में स्थान नहीं मिला है। नयी सरकार में उमा भारती और मनोज सिन्हा भी शामिल नहीं हैं। सुषमा और उमा ने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा जबकि मनोज सिन्हा चुनाव हार गए। अनंत गीते और हंसराज अहीर चुनाव हार गए और वे भी मंत्रिपरिषद में शामिल नहीं हैं। जेटली ने स्वास्थ्य कारणों से स्वयं ही नयी सरकार में शामिल होने से इंकार कर दिया था।  
नई टीम युवा ऊर्जा एवं प्रशासनिक अनुभव का मेल, भारत की प्रगति के लिये काम करेंगे: मोदी 
लोकसभा चुनावों में प्रचंड बहुमत के बाद अपनी मंत्रिपरिषद के साथ शपथ लेने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बृहस्पतिवार को कहा कि मंत्रियों की नई टीम ‘‘युवा ऊर्जा एवं प्रशासनिक अनुभव’’ का मेल है और हम साथ मिलकर भारत की प्रगति के लिये काम करेंगे। शपथ लेने के बाद मोदी ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘ आज शपथ लेने वाले सभी को बधाई। यह टीम ऊर्जा से भरे युवाओं और प्रशासनिक अनुभव रखने वालों का मिश्रण है।’’ उन्होंने कहा कि इसमें ऐसे लोग हैं जो सांसद के रूप में उभर कर आए हैं और ऐसे भी हैं जिनका पहले शानदार पेशेवर कैरियर रहा है। मोदी ने कहा, ‘‘ हम साथ मिलकर भारत की प्रगति के लिये काम करेंगे ।’’ 

No comments