Header Ads

झारखंड में बोले PM मोदी, कांग्रेस एक कमजोर सरकार चाहती है जिसे वह रिमोट से चला सके



प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने झारखंड के कोडरमा में एक चुनावी जनसभा में कहा कि कांग्रेस एक कमजोर सरकार चाहती है जिसे वह रिमोट से चला सके। उन्होंने पहली बार वोट डाल रहे मतदाताओं को 'मिशन महामिलावट' को लेकर सचेत करना चाहता हूं, वे किसी भी कीमत पर पूर्ण बहुमत वाली सरकार नहीं चाहते। पीएम ने कहा कि जब ईमानदारी हो, साफ नीयत हो, तो बिना लूट-खसोट वाली सरकार भी चल सकती है और देश का विकास भी हो सकता है। आज इसी वजह से पूरा देश पूरे विश्वास के साथ अपने इस सेवक, अपने इस चौकीदार के साथ खड़ा है।
झारखंड के कोडरमा में पीएम मोदी के भाषण की मुख्य बातें
1- मिशन महामिलावट यानि केंद्र में ऐसी खिचड़ी सरकार, जो कमजोर रहे, जिस सरकार में ये लोग करोड़ों-अरबों रुपए इधर से उधर कर पाएं, जो इनके परिवारों को, इनके रिश्तेदारों की गुलाम बनकर काम करे। ये किसी भी कीमत पर देश में एक मजबूत, पूर्ण बहुमत वाली सरकार नहीं चाहते।
2- कोडरमा से रांची तक की रेल लाइन की मंजूरी अटल जी की सरकार ने करीब 20 साल पहले दी थी। फिर कांग्रेस की सरकार दिल्ली में आई और ये योजना ठप पड़ गई। 2014 में आपने इस सेवक को अवसर दिया। अब कोडरमा-हज़ारीबाग-बरकाना-सिद्धवार सेक्शन तैयार है और एक डेढ़ साल में रांची तक पूरी लाइन तैयार करने की तरफ हम बढ़ रहे हैं।
3- कोडरमा और चाइबासा में मेडिकल कॉलेज, देवघर में एम्स अस्पताल और गांवों में आधुनिक हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर बनाए जा रहे हैं। आयुष्मान भारत योजना से हर वर्ष 5 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज गरीब से गरीब को भी उपलब्ध हो रहा है।
4- देश में बरसों से मांग हो रही थी कि पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा मिले। लेकिन ये लोग बार-बार इन कोशिशों को ब्रेक लगाते रहे। इनकी सारी राजनीतिक चालों औऱ साजिशों को हराने के बाद हमारी सरकार ने पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने का काम किया।
5-ये लोग किसी के नहीं हैं। इन लोगों को जहां अपना वोट बैंक नहीं दिखता, ये उस इलाके को गरीब बनाकर रखते हैं, पिछड़ा बनाकर रखते हैं, वहां के लोगों को पूछते तक नहीं हैं। गरीब आदिवासी भाई-बहनों के साथ भी इन लोगों ने यही किया है।
6- कांग्रेस ने घोषणा की है कि अगर उसके सहयोग से कोई सरकार बनती है तो देशद्रोह का कानून हटा दिया जाएगा। यानि जो नक्सलियों को मदद देने वाले लोग हैं उन पर कार्रवाई करना मुश्किल होगा। ये है कांग्रेस की सोच। बात चाहे पाकिस्तान के आतंकवादियों की हो या फिर घर में छुपे गद्दारों की, आपका ये चौकीदार किसी को नहीं छोड़ेगा। सर्जिकल स्ट्राइक हो या फिर एयर स्ट्राइक, ये तय है कि जहां से भी हमें खतरा होगा, वहां घुसकर मारेंगे

No comments