Header Ads

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेगा रोड शो के बाद की गंगा आरती, आज दाखिल करेंगे नामांकन


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रोड-शो में गुरुवार की शाम जनसैलाब उमड़ पड़ा। लोकसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने से एक दिन पहले यह रोड-शो निकाला गया। मोदी ने लंका में बीएचयू सिंहद्वार के पास मालवीय प्रतिमा पर माल्यार्पण और उमड़ी जनता का हाथ जोड़कर अभिवादन के साथ रोड-शो की शुरुआत की। पांच घंटे के मेगा रोड शो के बाद प्रधानमंत्री ने दशाश्वमेध घाट पर गंगा आरती की। अब कल यानि शुक्रवार को मोदी नामांकन दाखिल करेंगे।
मोदी लगातार दूसरी बार वाराणसी लोकसभा सीट से भाजपा के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ रहे हैं। वह शुक्रवार को यहां अपना नामांकन-पत्र दाखिल करेंगे। शाम करीब सवा पांच बजे प्रधानमंत्री मोदी का काफिला बीएचयू द्वार पहुंचा, जहां पहले से ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय, केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा आदि भाजपा के वरिष्ठ नेता वहां मौजूद थे। 
मोदी 4:45 बजे बाबतपुर हवाई अड्डा और वहां से हेलीकॉप्टर से पांच बजे बीएचयू हेलीपैड पर पहुंचे। यहां से कारों का काफिला 5:16 बजे लंका पहुंचा। केसरिया कुर्ता और दुपट्टे में प्रधानमंत्री जैसे ही अपनी काली कार से उतरे, वहां मौजूद हजारों लोगों ने ‘हर-हर महादेव’ और ‘मोदी-मोदी’ के नारों से उनका स्वागत किया।
मोदी ने 5:17 बजे प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद 5:20 बजे रोड-शो शुरू किया। लंका के इस छोर से दूसरे छोर तक सिर्फ लोगों के सिर दिखाई दे रहे थे। सड़क के दोनों किनारों की इमारतों पर भाजपा का झंडा लिए लोग खड़े प्रधानमंत्री का अभिवादन कर रहे थे। 
मोदी को 150 मीटर में लगे 35 मिनट
वाराणसी में रोड-शो कर रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बीएचयू सिंहद्वार पर मालवीय प्रतिमा से रविदास गेट तक की लगभग डेढ़ सौ मीटर दूरी तय करने में 35 मिनट लग गए। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि काफिले की रफ्तार एक किलोमीटर प्रतिघंटे से भी कम रही।
केसरिया कुर्ता और सीने पर कमल 
रोड- शो में केसरिया रंग का कुर्ता पहने मोदी ने अपने सीने पर भाजपा के चुनाव चिह्न ‘कमल’ का निशान लगा रखा था। उनका काफिला जैसे ही आगे बढ़ा, सड़कों के किनारे खड़े लोगों ने उन पर फूलों की बारिश की। रोड-शो के दौरान ‘मोदी-मोदी’ के नारे लग रहे थे। रोड-शो के साथ चल रहे लोगों ने मोदी की तस्वीर और ‘नमो अगेन’ वाली टी-शर्ट और कमल के निशान वाली केसरिया टोपी पहन रखी थी। सड़क के किनारे कुछ महिलाएं पारंपरिक वेशभूषा में मोदी के काफिले के स्वागत में खड़ी दिखीं। 
कार की छत खोल किया अभिवादन
पहले यह कार्यक्रम था कि मोदी रोड-शो के दौरान खुली गाड़ी में चलेंगे। लेकिन बाद में यह बदल गया। पीएम जिस कार में आए थे, उसकी छत खोल दी गई और वह सीट पर खड़े हो गए। 
काली गाड़ी की छत हुई गुलाबी
लंका का आधा रास्ता पार करते-करते प्रधानमंत्री की कार की काली छत गुलाबी रंग में रंग गई। लोगों ने गुलाब की पंखुड़ियों की इतनी अधिक बारिश कर दी। लोग प्रधानमंत्री की गाड़ी के पास आने के लिए बेताब हो रहे थे। मोदी भी लोगों को सुरक्षित रहने के इशारे करते हुए हाथ हिलाकर उनका अभिवादन स्वीकार कर रहे थे। उन्होंने अपनी कार की छत पर गिरी गुलाब की पंखुड़ियां भी लोगों की ओर उछालीं।
अपनी प्यारी काशी आ रहा हूं
वाराणसी पहुंचने से पहले मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘अपनी प्यारी काशी आ रहा हूं। हर-हर महादेव।’ मालवीय की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद मोदी ने एक खुली एसयूवी में अपना रोड-शो आरंभ किया। काफिले में चल रही अन्य गाड़ियों में भाजपा और एनडीए के वरिष्ठ नेता मौजूद दिखे।   

No comments