Header Ads

हिंदुओं के साथ आतंकवाद को जोड़ने के लिए शाह ने कांग्रेस को जमकर लताड़ा


परलाखेमुंडी। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पर समझौता एक्सप्रेस बम विस्फोट मामले के असल गुनहगारों को खुला छोड़कर देश की सुरक्षा को ताक पर रखने का आरोप लगाते हुए कहा कि विपक्षी पार्टी ने आतंकवाद से जोड़कर हिंदुओं का अपमान किया है। शाह ने कहा कि सीमा को सुरक्षित रखने और आतंकवाद को कुचलने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केवल भाजपा ही मजबूत और निर्णयकारी सरकार देने में सक्षम है। शाह ने कहा कि राहुल (गांधी) बाबा की पार्टी ने हिंदू समुदाय को आतंकवाद से जोड़ने का प्रयास किया। यह हर जगह हिंदुओं को बदनाम करने का प्रयास था।
शाह ने ब्रहमपुर लोकसभा सीट के तहत परलाखेमुंडी और नबरंगपुर संसदीय क्षेत्र के तहत उमरकोट में ‘उत्कल दिवस’ पर दो चुनावी सभाओं को संबोधित किया। कांग्रेस पर हमला करते हुए भाजपा प्रमुख ने कहा कि समझौता एक्सप्रेस बम विस्फोट मामले में स्वामी असीमानंद सहित सभी आरोपियों को हाल में बरी कर दिया गया। शाह ने कहा, ‘दुर्भाग्य से तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने मामले में असल गुनहगारों को खुला छोड़कर राष्ट्र की सुरक्षा के साथ समझौता किया। इन लोगों को राष्ट्र की सुरक्षा से कोई मतलब नहीं है।’ शाह ने कांग्रेस,तृणमूल कांग्रेस और बीजद की आलोचना करते हुए आरोप लगाया कि उन लोगों ने संसद में नागरिकता (संशोधन) विधेयक को रोका।
उन्होंने कहा कि मैं नवीन बाबू और ममता दीदी को बताना चाहूंगा कि उन्होंने उसे रोकने के लिए पुरजोर प्रयास किया लेकिन नरेंद्र मोदी एक बार फिर प्रधानमंत्री बनेंगे और अगली बार शरणार्थियों के हितों के लिए निश्चित तौर पर नागरिकता (संशोधन) विधेयक पारित कराया जाएगा। भाजपा प्रमुख अमित शाह ने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक पर निशाना साधते हुए ओडिशा के लोगों से कहा कि अंग्रेजीभाषी मुख्यमंत्री चुनने की ‘गलती’ नहीं दोहराएं। शाह 19 साल तक मुख्यमंत्री रहने के बावजूद कथित रूप से उड़िया भाषा नहीं बोल पाने के लिए नवीन पटनायक पर निशाना साध रहे थे। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि इस रैली से लौटने के बाद अंग्रेजी बोलने वाले मुख्यमंत्री को नहीं चुनने का संकल्प लीजिएगा। आप उड़िया हों या तेलुगू। लेकिन, इतना ध्यान रखिए अंग्रेजी बोलने वाले मुख्यमंत्री आपकी व्यथा और भावनाओं को नहीं समझ सकते।


No comments