Header Ads

होली की मस्ती में कहीं सुंदरता को न लग जाए ग्रहण


होली एक ऐसा त्योहार है, जिसमें लोग खुलकर मस्ती करते हैं, लेकिन रंगों की मस्ती का सबसे अधिक नकारात्मक प्रभाव जिस चीज पर देखने को मिलता है, वह है आपकी स्किन। अगर होली पर बालों और स्किन का सही तरह से ख्याल न रखा जाए तो बाद में स्किन में कलर तो रह ही जाता है, साथ ही रंगों में मौजूद केमिकल्स अपने साथ कई तरह की परेशानी लेकर आते हैं। तो चलिए जानते हैं उन उपायों के बारे में, जो होली में आपकी सुंदरता का भी ख्याल रखेंगे−
रंगों के कारण आपकी स्किन को कम से कम से नुकसान हो, इसका सबसे बढि़या उपाय है कि आप पहले से उसकी सुरक्षा के लिए कुछ कदम उठा लें। इसके लिए जरूरी है कि आप अपने चेहरे के साथ−साथ पूरे शरीर पर क्रीम या मॉइश्चराइजर अवश्य लगाएं। साथ ही धूप से होली खेलने से पहले सनस्क्रीन लगाना भी बेहद आवश्यक है। वहीं शरीर के कुछ हिस्से जैसे कान के पीछे, नाखून या आंखों के आसपास पेटोलियम जेली का इस्तेमाल करें। आप चाहें तो नाखूनों पर नेलपेंट भी लगा सकती हैं।
कवरिंग आएगी काम
होली के रंगों से बचने के लिए आप ऐसे कपड़े पहनें, जिससे आपकी स्किन ज्यादा से ज्यादा कवर हो। शार्ट्स या टीशर्ट के स्थान पर फुल स्लीव्स कपडे, जींस या ट्राउजर्स आदि को प्राथमिकता दें। इससे कलर सीधे स्किन के संपर्क में नहीं आता, जिससे स्किन को नुकसान पहुंचने की संभावना भी काफी कम हो जाती है।
नेचुरल कलर्स
अगर संभव हो तो होली खेलने के लिए नेचुरल कलर्स का ही इस्तेमाल करें। दरअसल, इस तरह के रंग स्किन को किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचाते। आप चाहें तो घर पर ही कई तरह के मसालों जैसे हल्दी, सब्जी, फल और फूल आदि से प्राकृतिक रंग तैयार कर सकते हैं और होली में जमकर इंजॉय कर सकते हैं।
 न करें यह गलती
कुछ लोग होली तो जमकर खेलते हैं, लेकिन जब बारी रंगों को हटाने की आती है तो वह अपनी स्किन के साथ काफी हार्श हो जाते हैं। वह रंगों को हटाने के लिए उसे बेहद जोर से रगड़कर साफ करते हैं। ऐसा करने की गलती न करें। इससे स्किन पर रैशेज व जलन होने लगता है। बेहतर होगा कि आप रंगों को हटाने के लिए कुछ प्राकृतिक उपाय जैसे दही आदि का प्रयोग करें। अगर आपकी स्किन गीली नहीं है तो पहले उसे झाड़कर गुलाल आदि को हटाएं। उसके बाद पानी की मदद से स्किन को साफ करें। लेकिन इस दौरान केमिकल्स युक्त साबुन का प्रयोग न करें। इसके स्थान पर क्लीजिंग युक्त साबुन या क्लींजर की मदद से स्किन की सफाई करें। साथ ही नहाने के बाद स्किन की खोई नमी को वापिस लौटाने के लिए उसे मॉइश्चराइज करना न भूलें। 
बालों की देखभाल
स्किन की ही तरह बालों को भी होली के दौरान अतिरिक्त देखभाल की आवश्यकता होती है। इसके लिए होली से एक रात पहले बालों को अच्छे से वॉश करें ताकि उसकी सारी गंदगी निकल जाए और फिर नारियल, ऑलिव या सरसों के तेल से बालों की अच्छी तरह मसाज करें। हालांकि इस बात का भी ध्यान रखें कि तेल को जड़ों में न लगाए। इससे कलर उतनी ही गहराई से जड़ों तक चिपका रहेगा जो कि बालों के लिए बहुत नुकसानदेह है।  
अगर आप होली खेलने जा रहे हैं तो स्किन के साथ−साथ बालों को कवर करना न भूलें। इसके लिए आप हैट, कैप, प्लास्टिक शॉवर कैपे या स्कार्फ आदि की मदद ले सकती हैं। वहीं जिन महिलाओं के बाल लंबे हैं, वह बालों को खुला रखने के स्थान पर जूड़ा या पोनीटेल बनाएं ताकि रंग बालों की जड़ों में न जाए। 
होली खेलने के बाद पहले सूखे बालों में कंघी कर लें ताकि सारा सूखा रंग आसानी से बाहर आ जाए। इसके बाद शैंपू की मदद से बालों को वॉश करें। हालांकि शैंपू के लिए किसी हर्बल शैंपू का ही चयन करें। बालों को शैंपू करने के बाद एक अच्छे कंडीशनर का प्रयोग करना न भूलें।
होली के बाद कुछ दिनों तक किसी भी तरह के केमिकल या हेयर प्रॉडक्ट जैसे हेयर कलर्स, हेयर डायर आदि का इस्तेमाल न करें। इससे बाल और भी अधिक रूखे व बेजान हो जाते हैं। 
बालों की खोई चमक लौटाने व उन्हें फिर से मजबूत बनाने के लिए बालों को अतिरिक्त पोषण दें। इसके लिए आप घर पर या पार्लर में हेयर स्पा ट्रीटमेंट अवश्य करें।

No comments