Header Ads

बीमार लालू को डबल झटका, एक तरफ जमानत रद्द



झारखंड उच्च न्यायालय ने चारा घोटाला मामले में दोषी लालू प्रसाद की अस्थाई जमानत अवधि बढ़ाने से इनकार कर दिया है और कहा है कि 30 अगस्त तक समर्पण करे। इसके अलावा ईडी ने आईआरसीटीसी के होटलों के आवंटन में धन शोधन के मामले में राजद प्रमुख लालू प्रसाद, उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया है।
धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत यहां की एक विशेष अदालत के समक्ष दायर की गई अभियोजन शिकायत (आरोप-पत्र) में ईडी ने प्रसाद के छोटे बेटे और बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, राजद के नेता पी.सी. गुप्ता और उनकी पत्नी सरला गुप्ता, लारा प्रोजेक्ट्स नाम की एक कंपनी और 10 अन्य को नामजद किया है।
ईडी का आरोप है कि पुरी और रांची स्थित रेलवे के दो होटलों के अधिकारों के सब-लीज कोचर के स्वामित्व वाली मेसर्स सुजाता होटल प्राइवेट लिमिटेड को दिए जाने में प्रसाद और आईआरसीटीसी के अधिकारियों ने अपने पदों का दुरूपयोग किया। फिलहाल लालू अपने उपचार के लिए मुंबई के एक अस्पताल में भर्ती है और इनकी सेहत लगातार गिर रही है। बता दें कि उच्च न्यायालय ने 11 मई को लालू को छह सप्ताह की अस्थायी जमानत प्रदान की थी जिसे फिर से 20 अगस्त तक के लिए बढ़ा दिया गया था। लालू को जमानत बेटे तेज प्रताप यादव की शादी से ठीक पहले मिली थी। 

No comments